breaking news

नीट पेपर लीक मामले में सुप्रीम कोर्ट की एनटीए और केंद्र को फटकार, 8 जुलाई को होगी अगली सुनवाई





नई दिल्ली। नीट पेपर लीक मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई याचिकाओं पर मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। इस दौरान सुप्रीम कोर्ट ने सख्त रुख अपनाते हुए परीक्षा का आयोजन कराने वाली संस्था नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) और केंद्र सरकार को कड़ी फटकार लगाई। सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान कहा कि अगर किसी की ओर से 0.001% लापरवाही हुई है तो इससे पूरी तरह निपटा जाना चाहिए। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट अब 8 जुलाई को अगली सुनवाई करेगा।

बता दें कि एमबीबीएस समेत मेडिकल के कई कोर्स में एडमिशन के लिए कराई जाने वाली नीट परीक्षा में धांधली के आरोप लगने के बाद देशभर में हंगामा मचा हुआ है। इस परीक्षा में इस बार 78 अभ्यर्थियों को 720 में से 720 नंबर मिलने के बाद कथित धांधली का मामला सामने आया था।

इसके बाद से ही तमाम अभ्यर्थियों ने इस संबंध में जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिताएं दाखिल की। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट इससे पहले भी नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) को नोटिस जारी कर जवाब मांग चुका है। अब सुप्रीम कोर्ट ने नीट परीक्षा के मामले में दोबारा से नोटिस जारी किया है। हालांकि मेडिकल कोर्स में एडमिशन लेने के लिए काउंसलिंग पर रोक नहीं लगाई गई है।

पेपर लीक मामले में बिहार में आर्थिक अपराध इकाई (ईओयू) भी एक्शन मोड में है। इस बीच ईओयू ने पूछताछ के लिए सभी अभ्यर्थियों को बुलाया है। सभी अभ्यर्थियों से सुबह 10 बजे से पूछताछ की जाएगी। इसके साथ ही ईओयू अभ्यर्थियों के अभिभावकों को भी बुलाया है। बता दें कि आर्थिक अपराध इकाई ने उन अभ्यर्थियों को पूछताछ के लिए बुलाया है जिनके रोल नंबर और एडमिट कार्ड आरोपियों के पास से बरामद किए गए थे।

नीट परीक्षा लीक मामले में बिहार पुलिस ने कार्रवाई करते हुए चार मुख्य आरोपियों को गिरफ्तार किया है। जिसमें से एक ने पेपल लीक होने की बात कही। उसने कहा कि अभ्यर्थियों से 30 से 40 लाख रुपये लिए गए हैं। वहीं परीक्षा से ठीक एक दिन पहले अभ्यर्थियों को पश्न पत्र और उसके जवाब रटवाए गए थे। वही सवाल 5 मई को हुई नीट की परीक्षा में पूछे गए थे।

Share With