breaking news

बीजेपी विधायक हजारीलाल दांगी के पोते ने इंदौर में की खुदकुशी, दो पेज का सुसाइड नोट छोड़ा





इंदौर। खिलचीपुर के भाजपा विधायक हजारीलाल दांगी के पोते ने इंदौर में खुदकुशी कर ली। वह गांधी नगर के एक मकान में किराए से रहता था और इंदौर रहकर एक लॉ कॉलेज में एलएलबी की पढ़ाई कर रहा था। उसने दो पन्नों का सुसाइड नोट लिखा है। एक नोट में दोस्त द्वारा दिए उपहार का जिक्र किया और लिखा कि-टेडी बीयर को हाथ न लगाएं। उसने आत्महत्या क्यों की। यह पुलिस को अभी तक पता नहीं चला है। पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है। आत्महत्या की जानकारी मिलने के बाद विधायक सहित अन्य परिजन इंदौर पहुंचे।

जानकारी के अनुसार, खिलचीपुर से भाजपा विधायक हजारीलाल दांगी के 19 वर्षीय पोते विजय ने सोमवार देर रात को आत्महत्या की। वह एक निजी कॉलेज में कानून की पढ़ाई कर रहा था। पुलिस को मौके से दो पेज का सुसाइड नोट भी मिला है। आधिकारिक तौर पर पुलिस ने कोई खुलासा नहीं किया है। उसके शव को अस्पताल ले जाया गया और पोस्टमार्टम किया जा रहा है। विजय के पिता बापू लाल दांगी भवन निर्माता हैं और उनकी खिलचीपुर में पुश्तैनी जमीन के साथ बड़ी खेती भी है।

पुलिस को मौके से जो सुसाइड नोट मिला है उसमें उसने अपने माता-पिता सहित परिवार के अन्य सदस्यों से माफी मांगी है और भाई को लिखा है कि मम्मी-पापा का ध्यान रखना। इसके अलावा उसने अपने दोस्तों को लेकर भी कई बातें लिखी हैं। उसने दोस्त द्वारा दिए उपहार का जिक्र किया और लिखा- मेरे टेडी बीयर को कोई हाथ न लगाएं। उसने अपने सुसाइड नोट में आत्महत्या करने की वजह का साफ तौर पर कोई जिक्र नहीं किया है। विजय ने जहरीला पदार्थ खाकर अपनी जान दी। सुसाइड नोट में उसने लिखा कि वह अपनी मर्जी से आत्महत्या कर रहा है। मेरी मौते के बाद परिवार के लोगों को परेशान न करे।

विजय के दोस्तों ने परिजनों को बताया कि बीते कुछ दिनों से विजय गुमसुम सा रहता था। वह किसी से बात नहीं करता था। बताया गया है कि विजय दो भाई है। बड़ा भाई एमबीए की पढ़ाई कर रहा है, वहीं छोटे विजय ने इसी साल कानून की पढ़ाई के लिए दाखिला लिया था। वह जिस स्थान पर रहता था, वहां लड़कियां भी पेइंग गेस्ट थीं। विजय को लेकर बताया गया है कि वह ज्यादा किसी से बातचीत नहीं करता था, मगर ऐसा क्या हुआ जो उसने आत्महत्या जैसा कदम उठाया, पुलिस अलग-अलग एंगल से जांच कर रही है।

Share With