इंटरटेनमेंट

एण्डटीवी पर धमाकेदार हफ्ता

एण्डटीवी के शोज – घर एक मंदिर-कृपा अग्रसेन महाराज की, मौका-ए-वारदात-आॅपरेशन विजय, और भई क्या चल रहा है?, हप्पू की उलटन पलटन और भाबीजी घर पर हैं के साथ आने वाला हफ्ता दर्शकों के लिये धमाकेदार होने वाला है।

महाराज जी ने मिटाया गेंदा और वरुण के बीच के फासला

एण्डटीवी के ‘घर एक मंदिर-कृपा अग्रसेन महाराज की‘ में गेंदा (श्रेणु पारिख) और वरुण (अक्षय म्हात्रे) नवरात्रि के जश्न के दौरान एक-दूसरे के करीब आयेंगे। हालांकि, अग्रवाल परिवार में सबकुछ सही नहीं चल रहा है, क्योंकि उधार देने वाले उनके घर में धमक पड़ते हैं और कुन्दन अग्रवाल (साई बल्लाल) को पैसे वापस करने के लिये धमकाते हैं। अग्रवाल परिवार इस संकट का सामना किस प्रकार करेगा? एण्डटीवी के ‘घर एक मंदिर-कृपा अग्रसेन महाराज की‘ में गेंदा का किरदार निभा रहीं श्रेणु पारिख ने कहा, ‘‘एक ओर वरुण ने गेंदा को और भी सम्मान देना शुरू कर दिया है और उनके बीच के संबंध सुधरने लगे हैं, लेकिन दूसरी ओर घर में काफी तनाव भरा माहौल भी है। देनदारों के घर पर आने और पैसे लौटाने की धमकी देने के बाद पूरा परिवार चिंतित है। वरुण और गेंदा इस समस्या को किस तरह सुलझायेंगे यह देखना दिलचस्प होगा और इस नाटकीय ट्रैक को और भी ज्यादा रोमांचक बनाएगा।‘‘

केटुरा का कहर

एण्डटीवी के ‘मौका-ए-वारदात-आॅपरेशन विजय‘ में चंद्रमा द्वारा गुफा में कैद किया गया एक दान केटुरा आजाद हो जाता है और शहर में आतंक मचाने लगता है। करवाचैथ पर, केटुरा खुद पूर्ण चंद्र बन जाता है और जब शहर की महिलायें, उस नकली चांद को देखकर अपना व्रत तोड़ती हैं, तो उनके पति राख बन जाते हैं। पुलिस वाले इस दानव का मुकाबला कैसे करेंगे? एण्डटीवी के ‘मौका-ए-वारदात-आॅपरेशन विजय‘ में पुलिस इंस्पेक्टर कीर्ति कौल की भूमिका निभा रहीं सोनाली निकम ने कहा, ‘‘महिलायें अपने पतियों की लंबी उम्र के लिये करवाचैथ का व्रत रखती हैं, लेकिन इसके बजाय उनके पतियों की मौत की घटनायें वाकई में दर्दनाक हैं। सावित्री नाम की एक नवविवाहिता केटुरा द्वारा पीड़ित महिलाओं में से एक है और यहीं से आॅपरेशन विजय हरकत में आता है। आॅपरेशन विजय की टीम इस समस्या का हल कैसे निकालेगी और वे केटुरा को किस तरह बंदी बनायेंगे, यह देखना सभी दर्शकों के लिये काफी रोमांचक अनुभव होने वाला है।‘‘

कैसे बचायेंगे मिश्रा और मिर्ज़ा अपनी हवेली को फिरंगी से?

एण्डटीवी के ‘और भई क्या चल रहा है? के अपकमिंग ट्रैक में सैंड्रा नाम की एक विदेशी महिला लखनऊ आती है। उसका दावा है कि हवेली मिश्रा (अंबरीश बाॅबी) और मिर्ज़ा (पवन सिंह) की नहीं है, बल्कि उसके दादाजी की है, जिसे उन्होंने 100 साल के लिये एक मेंटल असाइलम चलाने के लिये लीज़ पर दिया था। अब मिश्रा और मिर्ज़ा परिवार हवेली को सैंड्रा के हाथों में जाने से कैसे बचायेगा? इस दिलचस्प ट्रैक के बारे में बताते हुये पवन सिंह ऊर्फ ज़फर अली मिर्ज़ा ने कहा, ‘‘हवेली मिश्रा और मिर्ज़ा दोनों के लिये ही उनकी अनमोल धरोहर है। इसलिये जब उन्हें पता चलता है कि सैंड्रा हवेली पर कब्जा करने की कोशिश कर रही है, तो वे हवेली को एक नकली मेंटल असाइलम में बदल देते हैं। मिश्रा और मिर्ज़ा परिवार के सदस्यों को हवेली को बचाने के लिये पागलों की तरह हरकतें करते देखना वाकई में मजेदार होगा। हालांकि, फिरंगी महिला मिश्रा और मिर्ज़ा को अलग करने के लिये एड़ी-चोटी का जोर लगा देगी, लेकिन वे दोनों यह जंग कैसे लड़ेंगे और सैंड्रा की योजना पर किस तरह पानी फेरेंगे, यह देखना प्रेरणादायक और मनोरंजक होगा।‘‘

राजेश के हाथों पर लिखा है किसका खून?

एण्डटीवी के ‘हप्पू की उलटन पलटन‘ के आगे की कहानी में राजेश (कामना पाठक) इतना ज्यादा गुस्से में नजर आयेगी कि लोगों में इस बात का खौफ हो जायेगा कि वह परिवार के किसी सदस्य का खून तक कर सकती है। आखिर राजेश का कहर किस पर टूटेगा? इस ट्रैक के बारे में बताते हुये कामना पाठक यानी एण्डटीवी के ‘हप्पू की उलटन पलटन‘ की राजेश ने कहा, ‘‘राजेश के गुस्से की समस्या को समझते हुये, अम्मा घर में एक पंडित को बुलाती है। लेकिन राजेश बहुत स्मार्ट है और वह पंडित जी को परिवार वालों से झूठ-मूठ यह कहने के लिये बोलती है कि उसके हाथों में किसी का खून लिखा है। यह सुनकर पूरा परिवार डर जाता है और ऐसी हर चीज को करने से बचता है, जो राजेश को गुस्सा दिला सकता है। मुझे लगता है कि परिवार को अपने काबू में करने की यह चाल वाकई में कमाल की है। राजेश की पागलपंती और परिवार के लोगों के रिएक्शन ने इसे शो का एक मजेदार ट्रैक बना दिया है।‘‘

द 10-ईयर इच!

एण्डटीवी के ‘भाबीजी घर पर हैं‘ के सक्सेना (सानंद वर्मा) को एक रिसर्च में पता चलता है कि शादी के 10 साल पूरे कर लेने के बाद पति-पत्नी के बीच तलाक होने की संभावना बढ़ जाती है। इससे विभूति (आसिफ शेख) और अनीता (नेहा पेंडसे) एवं तिवारी (रोहिताश्व गौड़) और अंगूरी (शुभांगी अत्रे) काफी परेशान हैं, क्योंकि उन्होंने अभी-अभी शादी के 10 साल पूरे किये हैं। इस सीक्वेंस में काफी हंगामा होने वाला है, क्योंकि ये दोनों ही कपल तलाक से बचने के लिये पूरी कोशिश कर रहे हैं। एण्डटीवी के ‘भाबीजी घर पर हैं‘ में विभूति नारायण मिश्रा की भूमिका अदा कर रहे आसिफ शेख ने कहा, ‘‘सक्सेना का रिसर्च ढेर सारा टेंशन और ड्रामा लेकर आया है। हालांकि, दोनों ही दंपत्ति पूरी कोशिश कर रहे हैं कि उन्हें किसी बात पर गुस्सा नहीं आये और वे बहस से बचें, लेकिन आखिर में वे सभी अपना आपा खो देते हैं और उनके बीच एक बड़ी लड़ाई शुरू हो जाती है। शांति बनाये रखने के प्रयास में कई हास्यप्रद घटनायें उत्पन्न होती हैं, जिसे देखकर दर्शकों को मजा आने वाला है। ये दोनों कपल्स कब तक संयम बना पायेंगे और झगड़े से बच पायेंगे तथा सक्सेना की रिसर्च कैसे इसे और भी नाटकीय बनायेगी, यह देखना वाकई में दिलचस्प होगा।‘‘

देखिये ‘मौका-ए-वारदात-आॅपरेशन विजय‘ शाम 7:00 बजे, ‘घर एक मंदिर-कृपा अग्रसेन महाराज की‘ रात 9:00 बजे, ‘और भई क्या चल रहा है?’ रात 9:30 बजे, ‘हप्पू की उलटन पलटन‘ रात 10:00 बजे और ‘भाबीजी घर पर हैं‘ रात 10:30 बजे, हर सोमवार से शुक्रवार, सिर्फ एण्डटीवी पर